fbpx

Tag Archives: Virbhadra Singh

कांग्रेस पार्टी को आज चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। जब वीरभद्र सिंह से पूछा गया कि आप इस हार के लिए किसे जिम्मेदार मानते हैं तो उन्होंने कहा कि यह सब चुनाव प्रचार में कमियों के कारण हुआ है उसके विपरीत बीजेपी ने पूरी जोर शोर से अपना प्रचार किया। उन्होंने यह भी कहा कि मुझसे जितना बनता था वो मेने अकेले ही किया। यह सब मेरी नेतृत्व में हुआ है तथा मैं इसकी जिम्मेदारी लेता हूं। हमारा मानना है कि कहीं ना कहीं इन 4 कारणों की वजह से कांग्रेस पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है। आइए जानते क्या है वह कारण: 1. चुनाव प्रचार में कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम मात्र योगदान होना। चुनाव प्रचार में वीरभद्र सिंह जिनकी उम्र 83 साल है ने अकेले ही प्रदेश भर में रैलियों के द्वारा चुनाव में जीतने की उम्मीद से संघर्ष किया।…

Read more

याद हो कि 9 नवंबर को हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में 74 प्रतिशत मतदाता ने मतदान हुआ था। हिमाचल में भाजपा ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर वीरभद्र सिंह की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार को सत्ता से बेदखल करने की मांग की थी और अभी तक आए सभी सर्वे से ऐसा प्रतीत भी हो रहा है। Image Source  हिमाचल प्रदेश मे कुल 50,25,941 मतदाता हैं।हिमाचल प्रदेश के विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र की कुल संख्या 68 है। अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के लिए 20 सीट आरक्षित हैं। एससी के लिए आरक्षित 17 सीट, एसटीएस 3 के लिए आरक्षित हैं। Image Source  हिमाचल प्रदेश की 68 विधानसभा सीटों के लिए 337 उम्मीदवारों में से कुल 19 महिलाएं इस बार चुनाव मैदान में हैं। 337 उम्मीदवारों में से 112 स्वतंत्र उम्मीदवार हैं। हिमाचल प्रदेश में मुख्य चुनाव सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच है। Image Source  जहां कांग्रेस ने अपने मुख्यमंत्री पद के…

Read more

तथाकथित टेलीफोन टैपिंग केस में एक क्लीन चिट मिलने के एक सप्ताह बाद, हिमाचल के पूर्व डीजीपी आईडी भंडारी ने शनिवार को मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि “एक दल की गलत सलाह पर निर्णय लेकर” मेरे खिलाफ एक तुच्छ केस किया और पिछले पांच सालों से पुलिस और सीआईडी ​​के कामकाज का मजाक बनाकर रख दिया। शिमला में जिला और सत्र न्यायाधीश ने पिछले हफ्ते रमेश झाजटा (वर्तमान में कांगड़ा एसपी और पहले एसपी विजिलेंस) के द्वारा 25 मई 2016 के शिमला सीजेएम के आदेश को चुनौती देते हुए मामले से भंडारी को छुट्टी दे दी थी, जिसमें यह माना गया था कि पूर्व डीजीपी के खिलाफ कोई मामला सामने नहीं आया था। “टेलीफोन टैपिंग” मामले में 2013 में एक FIR दर्ज की गई थी। भंडारी जो 1982 बैच के आईपीएस अधिकारी है को वीरभद्र सिंह द्वारा 2012 में सत्ता में लौटने पर डीजीजी के पद…

Read more

हिमाचल प्रदेश को इंडिया टुडे मीडिया समूह की ओर से पुरस्कार दिया गया। यह पुरस्कार शिक्षा, अधोसंरचना(Infrastructure) और समावेशी विकास क्षेत्र में बड़े राज्यों की श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ राज्य हिमाचल को दिया गया। हिमाचल के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने वीरवार को नई दिल्ली में आयोजित हुए कार्यक्रम में केंद्रीय  मंत्री नितिन गडकरी से यह पुरस्कार प्राप्त किया। लगातार समाचार पाने के लिए हमारे facebook group onehimachal से जुड़िए । मुख्यमंत्री ने बताया कि कैसे प्रदेश के गठन से लेकर अब तक की विकास यात्रा रही। उन्होंने कहा कि आज हिमाचल देश भर में विकास का आदर्श बनकर उभरा रहा है। वीरभद्र सिंह ने पंडित जवाहर लाल नेहरू तथा डॉ. वाईएस परमार का प्रदेश के विकास की सुदृढ़ नींव रखने के लिए आभार जताया। उन्होंने कहा कि हिमाचल ने प्रदेश गठन के बाद अपनी विकास यात्रा को आरंभ किया। यह भी पढ़े। रोहतांग दर्रा अलगे साल तक गाड़ियों के लिए बंद।…

Read more

9 नवंबर को हुए हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनावों के दौरान हुए रिकॉर्ड मतदान से कांग्रेस के और भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को जबरदस्त परिणाम की अपेक्षा हैं। बीजेपी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार होने की वजह से प्रेम कुमार धूमल को कांग्रेस के वीरभद्र सिंह से कड़ा मुक़ाबले सामना करना पड़ा। इस बार मतदाताओं की संख्या पिछले चुनाव से ज्यादा थी जब उन्होंने वहां सीट जीती थीं। अर्की विधानसभा क्षेत्र जहां वीरभद्र सिंह ने चुनाव लड़ा था, वहां 74.36% मतदाताओं ने अपना मत दिया। इससे पहले, सबसे ज्यादा मतदान 73.46% था। प्रेम कुमार धूमल के विधानसभा क्षेत्र सुजानपुर में मतदान का औसत 74.07% था, जबकि पिछले चुनाव में सर्वोत्तम 69.33% था। यह कहा जा रहा है कि जहां से भारी मतदान हुआ है वहां इस बार प्रतियोगियों के बीच मुक़ाबला टक्कर का होगा। 2012 के विधानसभा चुनाव में, राज्य में 72.69% मतदान हुआ, जबकि इस बार यह 74.61 के उच्चतम स्तर…

Read more

हेलिकॉप्टर में तकनीकी खराबी के कारण वीरभद्र सिंह का नाहन दौरा हुआ रद्द। नाहन विधानसभा क्षेत्र में चुनावी जन सभा को संबोधित करने का कार्यक्रम था। मुख्यमंत्री का आगमन समय 4:30 बजे था । मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर के उड़ान ना भर पाने की वजह से मुख्यमंत्री नाहन जनसभा सम्बोधित नहीं कर पाए। कांग्रेस पार्टी चुनाव होने से पूर्व अपना पूरा ध्यान जनता को लुभाने की कवायदों में लगी है। आज राहुल गांधी पांवटा साहिब में जनता को संबोधित कर चुके हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री के कार्याक्रम का रद्द होना कही ना कही कांग्रेस पार्टी के लिए हानिकारक साबित होगा। उन्होंने फोन पर जनता को संबोधित करते हुऐ ना आ पाने के लिए माफी मांगी।

हिंदुस्तान टाइम्स अखबार के साथ हुई बातचीत में प्रोफेसर प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता कानून और व्यवस्था बहाल होगी, जो उनके मुताबिक वीरभद्र सिंह की अध्यक्षता वाली कांग्रेस सरकार के तहत पिछले पांच वर्षों में बदतर हो गई है। उनका कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी की पूरे राज्य में चुनाव रैलियों के साथ, जनता का मन ही ऐसा है कि कांग्रेस का सफाया हो जाएगा। वीरभद्र शासन भ्रष्टाचार और गलत प्रशासन का प्रतीक है और लोगों ने इसे उखाड़ फेंकने का फैसला किया है। कांग्रेस पार्टी के किसी भी बड़े नेता के हिमाचल प्रदेश में प्रचार के नाम आने पर धूमल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पहले ही हार मान चुकी है और हार का सारा ठीकरा वीरभद्र सिंह के सिर फोड़ेगी। जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें अपनी पार्टी में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा और पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार के प्रति अपनी पार्टी…

Read more

Image Source सार्वजनिक मंच पर हिमाचल विधानसभा चुनाव न लड़ने का ऐलान कर चुके मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को लेकर हिमाचल के कांग्रेस प्रभारी सुशील कुमार शिंदे ने बड़ा बयान दिया है। दैनिक अखबार अमर उजाला की खबर के अनुसार शुक्रवार को कांगड़ा एयरपोर्ट पहुंचने पर कांग्रेस प्रभारी शिंदे ने एलान किया कि वीरभद्र स‌िंह चुनाव जरूर लड़ेंगे। ऐसे में ये अटकलें तेज हो गई है क‌ि क्या सीएम वीरभद्र स‌िंह चुनाव लड़ेंगे या अपनी बात पर टिके रहेंगे। हालांक‌ि जब सीएम ने चुनाव न लड़ने का एलान किया था तब उन्होंने ये भी कहा था क‌ि यद‌ि हाईकमान दबाव डालेगी तो वे चुनाव लड़ सकते हैं। Image Source शिंदे के इस बयान के बाद सवाल ये भी है कि क्या CM शिमला ग्रामीण से चुनाव लड़ेंगे या फिर किसी विधानसभा क्षेत्र से। क्योंक‌ि इस बार वीरभद्र सिंह के पुत्र और युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रमादित्य ‌‌स‌िंह को भी चुनावी मैदान में…

Read more

Image Source प्रदेश के सभी सरकारी कर्मचारियों व पेंशनरों को जनवरी माह 2017 से 4% महंगाई भत्ता (DA) मिलेगा। प्रदेश सरकार अक्तूबर माह मे इसका भुगतान करेगी। सितंबर के वेतन में 4 फीसदी DA जुड़ कर आएगा और डीए का एरियर GPF में जमा होगा। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने शिमला के रामपुर में राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में 4% DA देने का एलान किया। दैनिक समाचार पत्र अमर उजाला की खबर के अनुसार उन्होंने ने 3 साल पूरा कर चुके कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारीओ को नियमित करने की भी घोषणा की। PTA शिक्षकों को CONTRACT पर लाने और कंप्यूटर शिक्षकों के Regular करने के लिए नीति बनाने का भी भरोसा दिया गया। उन्होंने रामपुर के पास ज्यूरी में डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी क्षेत्र में लगभग 63 हजार युवाओं को नौकरी दी। Image Source मुख्यमंत्री ने रामपुर पीजी कॉलेज मैदान में तिरंगा फहराया और परेड से…

Read more

  Image Source पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बयान, जिसमें उन्होंने कहा था कि भाजपा 60 सीटें जीतेगी तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा, पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जी भागने वाले को भगौड़ा कहते हैं और अगर आप ऐसे ही राजनीति छोड़ देंगे तो जनता आपसे हिसाब कैसे लेगी। पूर्व मुख्यमंत्री हमीरपुर विस क्षेत्र की सासन पंचायत में दलित सम्मेलन में भाग लेने के उपरांत प्रैस वार्ता को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने दलित के घर नीचे बैठकर भोजन किया। इस दौरान उनके साथ विधायक विजय अग्निहोत्री व प्रदेश भाजपा अनुसूचित जाति के अध्यक्ष डा. सिकंदर भी मौजूद रहे। Image Source मोदी सरकार के पैसे को बांट कर झूठी वाहवाही लूट रही कांग्रेस पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल  ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार हिमाचल को करोड़ों रुपए का बजट भेज रही है लेकिन प्रदेश की कांग्रेस सरकार केंद्र की मोदी…

Read more

10/13