fbpx

Tag Archives: Politics

कांग्रेस पार्टी को आज चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। जब वीरभद्र सिंह से पूछा गया कि आप इस हार के लिए किसे जिम्मेदार मानते हैं तो उन्होंने कहा कि यह सब चुनाव प्रचार में कमियों के कारण हुआ है उसके विपरीत बीजेपी ने पूरी जोर शोर से अपना प्रचार किया। उन्होंने यह भी कहा कि मुझसे जितना बनता था वो मेने अकेले ही किया। यह सब मेरी नेतृत्व में हुआ है तथा मैं इसकी जिम्मेदारी लेता हूं। हमारा मानना है कि कहीं ना कहीं इन 4 कारणों की वजह से कांग्रेस पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है। आइए जानते क्या है वह कारण: 1. चुनाव प्रचार में कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम मात्र योगदान होना। चुनाव प्रचार में वीरभद्र सिंह जिनकी उम्र 83 साल है ने अकेले ही प्रदेश भर में रैलियों के द्वारा चुनाव में जीतने की उम्मीद से संघर्ष किया।…

Read more

13वी विधानसभा चुनाव में पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। इस चुनाव में करीब 50 लाख मतदाताओं में से 37 लाख मतदाताओं ने अपने अधिकार का इस्तेमाल किया। जो कि लगभग 75% रहा। इस चुनाव में 337 उम्मीदवारों ने अपनी किस्मत आजमाइए। कुछ मतदान केंद्रों पर शाम 5 बजे के बाद भी मतदाताओं की कतारें देखने को मिली। वहीं कुछ जगहो पर ईवीएम में गड़बडी के कुछ मामले सामने आए। जानिए हर जिले में कितना प्रतिशत मतदान हुआ: सिरमौर जिला में प्रदेश में सबसे अधिक 82% मतदान हुआ। सोलन में 77.4% ऊना 76% कुल्लू 77.% किन्नौर 75% बिलासपुर 75% चंबा 74% मंडी 75% शिमला 72.5% लाहौल स्पीति 73.4% कांगड़ा 72% हमीरपुर 69.50% लगाता समाचार पाने के लिए हमारे facebook group onehimachal से जुड़िए । जनता का चुनाव में इतना बढ़-चढ़कर भाग लेना एक जागरूक समाज की निशानी है। लोगों को यह भली-भांति पता है कि उनके मत का कितना महत्व है। अब देखना…

Read more

लाहौल-स्पीति तथा मंडी जिले के कुछ गांवों ने मतदान का बहिष्कार किया। उदयपुर में सालपत गांव , लाहौल-स्पीति जिले के दारचा के योचे गांव और मंडी जिले में संधोल के लोग अपनी मांगे  पूरा नहीं होने से परेशान हैं। लाहौल-स्पीति जिले में दो पंचायतों के निवासी और मंडी जिले के संधोल क्षेत्र के लोग चुनाव का बहिष्कार करेंगे क्योंकि उनका कहना है कि उनकी मांग अभी भी अधूरी है। कई वर्षों से उनके गांव के लिए जाने वाली सड़क का निर्माण अभी तक अधूरा है। उदयपुर पंचायत प्रधान मणि देवी ने thetribune को बताया, “लोग नाराज हैं और वे अपने फैसले पर अडिग हैं। हालांकि, मैंने उन्हें वोट देने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करने कोशिश की है। ” योचे गांव के लोग अपने घरों के निर्माण के लिए सुरक्षित जगह पर भूमि देने मांग कर रहे थे।आपको बता दें कि यह गांव सर्दियों और पिछले वर्ष के दौरान हिमस्खलन से ग्रस्त…

Read more

आज कांगड़ा में जनता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काफी विषयों पर चर्चा की। उन्होंने कांग्रेस के नेताओं को आत्मचिंतन करने को कहा तथा हिमाचल प्रदेश की जनता से कांग्रेस मुक्त भारत के उनके लक्ष्य में सहयोग करने का आग्रह किया। पर उनके भाषण का सबसे दिलचस्प भाग वह था जिसमें उन्होंने हिमाचल को बर्बाद कर रहे 5 दानवों के बारे में बात की। जानिए कौन हैं वह 5 दानव 1. खनन माफिया हिमाचल प्रदेश में अपार मात्रा में प्राकृतिक संसाधन उपलब्ध हैं। काफी समय से इन संसाधनों का दुरूपयोग किया गया है जिसमें खनन माफिया का सबसे बड़ा हाथ है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह भू  संपदा को लूूट रहे हैं तथा इसे जड़ से उखाड़ फेंकना है। 2. वन माफिया मोदी जी ने वन माफिया को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि यह सब वन संपदा को लूट रहे हैं। हिमाचल प्रदेश के…

Read more

Image Source सार्वजनिक मंच पर हिमाचल विधानसभा चुनाव न लड़ने का ऐलान कर चुके मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को लेकर हिमाचल के कांग्रेस प्रभारी सुशील कुमार शिंदे ने बड़ा बयान दिया है। दैनिक अखबार अमर उजाला की खबर के अनुसार शुक्रवार को कांगड़ा एयरपोर्ट पहुंचने पर कांग्रेस प्रभारी शिंदे ने एलान किया कि वीरभद्र स‌िंह चुनाव जरूर लड़ेंगे। ऐसे में ये अटकलें तेज हो गई है क‌ि क्या सीएम वीरभद्र स‌िंह चुनाव लड़ेंगे या अपनी बात पर टिके रहेंगे। हालांक‌ि जब सीएम ने चुनाव न लड़ने का एलान किया था तब उन्होंने ये भी कहा था क‌ि यद‌ि हाईकमान दबाव डालेगी तो वे चुनाव लड़ सकते हैं। Image Source शिंदे के इस बयान के बाद सवाल ये भी है कि क्या CM शिमला ग्रामीण से चुनाव लड़ेंगे या फिर किसी विधानसभा क्षेत्र से। क्योंक‌ि इस बार वीरभद्र सिंह के पुत्र और युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रमादित्य ‌‌स‌िंह को भी चुनावी मैदान में…

Read more

केंद्र की मोदी सरकार ने हिमाचल के उद्योगों के we लिए टैक्स रियायत 10 साल के लिए बढ़ाई है। इसका फायदा प्रदेश के करीब हजार उद्योगों को मिलेगा। जिन उद्योगों को केंद्रीय आबकारी शुल्क में 31 मार्च 2017 तक छूट दी जा रही थी, जीएसटी लागू होने के बाद उन्हें सीजीएसटी और आईजीएसटी में छूट दी गई है। दैनिक समाचार पत्र अमर उजाला की खबर के अनुसार यह छूट जुलाई 2017 से मार्च 2027 तक मिलेगी। जीएसटी लागू होने के बाद जिन उद्योगों से सीजीएसटी और आईजीएसटी लिया गया है, उन्हें रिफंड किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी ने जम्मू एवं कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और राज्य में स्थित उपयुक्त औद्योगिक इकाइयों के लिए  गुड्स और सर्विस कर व्यवस्था के तहत बजट सहायता प्रदान कर को मंजूरी दी है। इसी योजना में 10 साल के लिए कर छूट की व्यवस्था का प्रावधान किया…

Read more

  Image Source पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बयान, जिसमें उन्होंने कहा था कि भाजपा 60 सीटें जीतेगी तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा, पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जी भागने वाले को भगौड़ा कहते हैं और अगर आप ऐसे ही राजनीति छोड़ देंगे तो जनता आपसे हिसाब कैसे लेगी। पूर्व मुख्यमंत्री हमीरपुर विस क्षेत्र की सासन पंचायत में दलित सम्मेलन में भाग लेने के उपरांत प्रैस वार्ता को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने दलित के घर नीचे बैठकर भोजन किया। इस दौरान उनके साथ विधायक विजय अग्निहोत्री व प्रदेश भाजपा अनुसूचित जाति के अध्यक्ष डा. सिकंदर भी मौजूद रहे। Image Source मोदी सरकार के पैसे को बांट कर झूठी वाहवाही लूट रही कांग्रेस पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल  ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार हिमाचल को करोड़ों रुपए का बजट भेज रही है लेकिन प्रदेश की कांग्रेस सरकार केंद्र की मोदी…

Read more

Virbhadra Singh was born on 23 June 1934 at Sarahan, Shimla district. His father was Raja Padam Singh. He received his elementary education from Bishop Cotton School (Shimla) and later obtained a B.A. Honours degree from St. Stephen’s College, Delhi. He is married to Pratibha Singh and has a son, Vikramaditya Singh and four daughters. He is the longest-serving Chief Minister of Himachal Pradesh. Lets talk more about him and share “6 facts about Virbhadra Singh that you must know“ 1. He was an honorary Captain in the Indian Army. Image Source 2. He is awarded with  Silver Elephant for Contribution in Scouts and Guides Movement and with Golden Peacock Environment Leadership award by London based Institute of Directors for Contribution in Promotion of Environment, Wild Life, Environment Governance and Eco-Tourism. Image Source 3. He had been to countries like: Afghanistan, Egypt, France, Germany, Ghana, Guinea, Hungary, Italy, Kuwait, Lebanon, Mauritania, Mauritius,…

Read more

8/8