fbpx

Tag Archives: Kullu

There is a common phrase that we get to hear very often which goes like this, “Mountains are calling and I must go“. Well, it sounds like a cliche phrase if you don’t love mountains or haven’t developed a taste of hiking in mountains but if you feel the essence of it then you keep holding on to it. So OneHimachal brings to you a new trek in collaboration with Lion Heart Expeditions who specialize in organizing jeep safari, mountaineering, skiing, snowboarding, rock climbing, motorbike tours, bicycle tours treks and adventure sports in the Himalayas. So let us discuss the trip itinerary and other key points. BHRIGU LAKE TREK Bhrigu (4240m) is a prominent holy lake of the Kullu Region, located right of the Rohtang pass. The Legend says that Bhrigu Rishi meditated here and many local gods of the Kullu Region took a dip in its sacred water. Most famous among them is Guru…

Read more

हिमनद या फिर हिमानी, बस्ते जहां भोले बर्फानी, नदियां करती कल कल, यही है मेरा हिमाचल, भोले यहाँ के लोग, मीठे उनके बोल, जहां खुशियाँ हैं हरपाल, यही है मेरा हिमाचल, पहाड़ों से वीर यहाँ, इसके जैसा स्वर्ग कहाँ, देव बसते हैं जहां आकर, यही है मेरा हिमाचल, सेब-नाशपती के बाग, या सारसो का साग, हरकुछ मेल यहाँ पर, यही है मेरा हिमाचल, धाम यहाँ की पहचान, और सिड्डु का भी है नाम, दिल मोहते फूल और फल, यही है मेरा हिमाचल, कांगड़ा मंडी या शिमला किन्नौर , सोलन हमीरपुर देश के सिरमौर, तत्पर है सूरज नया उगने को कल, यही है मेरा हिमाचल, ऊना बिलासपुर की अब लोर, चले नई किरण की ओर, कुल्लू चंबा स्पीति लाहुल, यही है मेरा हिमाचल, यही है मेरा हिमाचल!!!! यह कविता ऋषभ शर्मा द्वारा लिखी गई है। साथ ही इस कविता में उपस्थित चित्र भी उन्होंने ही उपलब्ध कराए हैं। हमें उम्मीद है कि आपको यह कविता पसंद आई होगी।  

What was the first thing that came to mind when you read the tittle, apart from the famous MCream? The scenic beauty of course. As we all know this antique and remote place is located in between the two most beautiful valleys Parvati and Kullu shadowed by Chanderkhani and Deotibba peaks. This widespread piece of land alongside the river Malana is in the public eye for wrong reasons so far. The fame of the cream made this little hamlet an international brand for weed lovers. The intensely fragrant cream with around 32% THC and high oil content won best weed tittle twice. Malana is a beautiful village and a strain of cannabis is not the only thing we should promote about the oldest republic of our country. Cannabis Indica, the plant which is the used for making the well-known Malana cream, is also used for making basket, ropes, and slippers…

Read more

Hankering for a vacation? Vacation means to soothe your soul. But don’t let your relaxation destroy the beauty of himalayas by littering garbage. One thing is to be taken care of by which you can save the environment over there , i.e. to park your vehicle in your hotel and explore the city barefoot. Come and let’s start exploring the beautiful Manali together! •Old Manali Instagram: pahadi_pilgrim The most cleanest place of Manali because it is still comparitively untouched by tourists. There is a “Manu temple” on the peak of old Manali and the drooling shops over there have such classy apparels , danglers and ornaments. There are many great cafes to chill and enjoy great food with live music and awesome crowd. •Solang Valley image Source :- @sinhasougata A place 13 km from Manali which is famous for various adventures activities such as paragliding , bungee jumping,  ball ride…

Read more

कसोल शहर को भारत के ‘मिनी-इज़राइल’ के नाम से भी जाना जाता है। कुल्लू जिले में पड़ने वाले इलाके के होटल संकट में हैं। हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के आदेशों के बाद, कुल्लू जिला प्रशासन ने बिजली और पानी के कनेक्शन को काट दिया है और 40 के करीब व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद कर दिया है। Image Source इस शहर में बड़ी संख्या में इजरायलियों ने अपने व्यवसाय स्थापित किया है और यहां इजरायलि फल फूल रहे है। हिमाचल प्रदेश नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा किए गए छापे के दौरान इस क्षेत्र में होटल से ड्रग ,विशेष रूप से कैनबिस जब्त की गई है। Image Source प्रदेश न्यायालय ने जिला प्रशासन को इन सभी होटलों, गेस्टहाउसों और ढाबो की वैधता की जांच के लिए कहा था। उच्च अधिकारियों ने आस पास के इलाकों में फैले कैनाबिस के अवैध व्यापार की जांच की,जिसे ‘मलाना क्रीम’ कहा जाता है। Image Source   पिछले कल…

Read more

रोहतांग दर्रे में बुधवार को इस सीजन की पहली बर्फबारी हुई, इस बर्फबारी के साथ ही अगले साल तक गाड़ियों के आने जाने के लिए रोहतांग दर्रा बंद कर दिया गया। पैदल यात्री और गुजरने वाले स्थानीय लोगों और पर्यटकों की सुरक्षा के मध्यनजर रखते हुए यहां दो बचाव चौकियां भी बना दी गई हैं। इन बचाव चौकियों में पुलिस और अन्य दस्तों के 9-9 कर्मचारी भी तैनात रहेंगे। लगाता समाचार पाने के लिए हमारे facebook group onehimachal से जुड़िए । Image Source @sinhasougata यह भी पढ़े। खुशखबरी: प्रदेश की पहली इलेक्ट्रिक बस ने पूरा किया अपना पहला कमर्शियल रन। जानिए किराया रूट  हिमाचल प्रदेश की चोटियों पर हुई ताजा बर्फबारी का असर निचले मैदानी इलाकों में बुधवार से ही दिखना शुरू हो गया। Image Source:- @no_watermarks पहाड़ों से आने वाली सर्द हवाओं से कोहरा के बादल कुछ कम हुए है। मौसम विभाग का कहना है कि सर्द हवाओं की वजह से…

Read more

एचआरटीसी की इलेक्ट्रिक बस ने 13 नवंबर को अपना पहला कमर्शियल रन मनाली से रोहतांग तक तय किया। हालांकि अक्टूबर में कुल्लू दशहरा से पहले ही जी. एस. बाली द्वारा इस सेवा को हरी झंडी दिखाई गई थी। यह कदम वातावरण में पेट्रोल तथा डीजल के धूएं की मात्रा में कमी लाने के लिए किया गया है। इन बसों के संचालन से उन लोगों को भी राहत मिलेगी जिन्हें अपनी गाड़ियों को रोहतांग ले जाने के लिए परमिट लेना पड़ता था। बाली जी ने कहा कि एचआरटीसी आने वाले दिनों में कुल्लू में 10 वाहन मुहैया कराएगी तथा उसके बाद यह सेवा दूसरे क्षेत्रों में भी शुरू होगी।उन्होंने कुल्लू में 30 करोड़ से बनने वाले नये बस अड्डे की नींव भी रखी। लगातार समाचार पाने के लिए हमारे facebook group onehimachal से जुड़िए । हिमाचल प्रदेश की सरकारी ऑपरेटर एचआरटीसी अब पहाड़ी राज्यो में प्रथम है जिसके पास इलेक्ट्रिक बस है और…

Read more

Lost Tribe Hostel

Himachal Pradesh has a lot to offer in terms of tourism and people from all corners of the world visit it all year around. Earlier people who were very well equipped in terms of money and connections used to be the ones to travel more often. People from middle class and economically backward backgrounds saw travelling as a luxury. They had to save in advance for months in order to go on a holiday and also spend wisely while they are on the holiday. But as the time has changed,tourism industry has revolutionized and has undergone a massive change and that too in a positive ways. Now people irrespective of which background they come from, are willing to go out and travel without much worrying about how they will manage the expenditures. On an average, if you visit Manali and you plan to book a room, it will cost you…

Read more

हिमाचल प्रदेश की समुद्र तल से ऊंचाई 350 मीटर से 7,000 मीटर के बीच के लगभग है। हिमाचल प्रदेश को तीन प्रकार की पर्वत श्रृंखलाओं में बांटा गया है। 1. निम्न पर्वत श्रेणी – इस पर्वत श्रेणी को शिवालिक पर्वत के नाम से भी जाना जाता है। शिवालिक शब्द का अर्थ है शिव की जटाएं । इस क्षेत्र की समुद्र तल से ऊंचाई 350 मीटर से 1500 मीटर तक है। प्राचीन काल में शिवालिक पर्वत को मानक पर्वत के नाम से जाना जाता था। इस क्षेत्र में औसत वार्षिक वर्षा 1500 mm से 1800 mm के बीच होती है। हिमाचल प्रदेश के निम्न पर्वत श्रेणी में कांगड़ा उना, हमीरपुर, बिलासपुर, मंडी, सोलन और सिरमौर के निचले शेत्र आते आते हैं। 2. मध्य पर्वत श्रेणी– इस पर्वत श्रृंखला पर्वत श्रृंखला में सिरमौर जिले के रेणुका, मंडी जिला के करसोग, चंबा की चूराहा और कांगड़ा के ऊपरी भाग जैसे पालमपुर तहसील आदि शामिल…

Read more

हिमाचल प्रदेश वीर सपूतों की भूमि रहीं हैं। आज भी हिमाचल से भारतीय सीमाओं की रक्षा के लिए और देश पर मर-मिटने के लिए हजारों लोग सेना में भर्ती होते हैं। भारत कई सदियों तक अंग्रेज़ो का गुलाम रहा। आज के दिन जब 1947 में भारत को आजादी मिली तो एक नये दौर की ओर भारत ने कदम रखें। इस आजादी को पाने के लिए हजारों देशवासियों ने अपना-अपना योगदान दिया। हिमाचल प्रदेश का उस समय आधिकारिक तौर पर अस्तित्व नहीं था पर यहां के क्रांतिकारी नेताओं, लेखक, कविओं इत्यादि ने उस दौर में अपनी अलग ही छाप छोड़ी थी। तो आज स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य पर हम उन्हीं कुछ स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में जानेंगे। बाबा कांशी राम: बाबाकांशी राम का जन्म 11 जुलाई 1882 को कांगड़ा जिले के देहरागोपिपुर कस्बे में हुआ था। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय रूप से भाग लिया था। उन्होंने केवल काले कपड़े पहनने का…

Read more

10/22