6 must places to visit while you are in Manali

Hankering for a vacation? Vacation means to soothe your soul. But don’t let your relaxation destroy the beauty of himalayas by littering garbage. One thing is to be taken care of by which you can save the environment over there , i.e. to park your vehicle in your hotel and explore the city barefoot. Come and let’s start exploring the beautiful Manali together! •Old Manali Instagram: pahadi_pilgrim The most cleanest place of Manali because it is still comparitively untouched by tourists. There is a “Manu temple” on the peak of…

Read More

Woodscation is organizing Kareri Lake Trek this December and Yes it includes a free stay..

Woodscation is a brainchild of Baljeet Bhayana &  Harmanpreet singh. They started Woodcation because of their love for Himalayas and also for their passion of venturing into unexplored places.  Woodscation is a company working towards promotion of tourism in remote and unexplored regions with social objective of nature preserve (like to Travel and Volunteer ? Fill the form at the bottom) They organise treks to untouched beautiful valleys of Dhauladhar ranges. Which include treks like Nagdal, Kareri lake,Lumdal lake,Kalikund etc. which are surrounded with spectacular unobtructed view of the mountain ranges…

Read More

खराब मौसम के कारण भुंतर-चंडीगढ़ उड़ान दो महीने रहेगी बंद। पढ़िए पूरी ख़बर..

Image Source भुंतर और चंडीगढ़ के बीच चलने वाली एयर इंडिया की हवाई सेवा दो माह के लिए बंद रहेगी। यह फैसला एयर इंडिया ने कोहरे और मौसम की वजह से  लिया है। भुंतर एयरपोर्ट में एयर इंडिया स्टेशन मैनेजर दिनेश भारद्वाज ने बताया कि मौसम ठीक होने पर सेवा सुचारू रूप से बहाल की जाएगी। एयर इंडिया मैनेजर ने बताया कि दो दिसंबर से 31 जनवरी तक के बीच हम कोई भी टिकट नहीं बेचेंगे। Image Source खराब मौसम के कारण दो महीने विमान सेवा बंद भुंतर से दिल्ली के…

Read More

शिमला आने वाले पर्यटकों के लिए खुशखबरी, रेलवे ने लिया यह बेहतरीन निर्णय…

Image Source Tumuskura शिमला सर्दियों का सीजन शुरू होते ही बर्फबारी को देखने शिमला आने वाले पर्यटकों का तांता लग जाता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए  रेलवे न पर्यटकों को खास तोफा दिया है। उत्तर रेलवेे अब पर्यटकों के लिए 2 नई ट्रेनें चलाएगा। इस खबर की पुष्टि उत्तर रेलवे के सोलन रेलवे स्टेशन मास्टर कमलेश चंद्र ने की है। स्टेशन मास्टर कमलेश चंद्र ने बताया कि यह 2 विशेष ट्रेन दिसंबर और जनवरी माह के बीच चलेगी। उन्होंने कहा कि करीब 15 दिसंबर से दोनों ट्रेनें सुचारू…

Read More

जल्द होगी शुरू चंडीगढ़ से शिमला तक की रोजाना हेलीकॉप्टर सेवा

जल्द ही शुरू होने वाली है चंडीगढ़ से शिमला तक की रोजाना हेलीकॉप्टर सेवा। Image Source  ज्ञात रहे अभी तक चंडीगढ़ से शिमला का कोई हवाई संपर्क नहीं है। कुछ समय पहले, एक निजी ऑपरेटर ने सेवाएं शुरू कर दी थीं।लेकिन वह सेवा लंबे समय तक जारी नहीं हो सकीं। चंडीगढ़ से शिमला तक की हवाई यात्रा का समय 25 मिनट के आसपास होने की उम्मीद है। चंडीगढ़ में आने वाले एक हफ्ते में शिमला से जुड़ने के लिए तैयार है। सरकारी हेलीकॉप्टर सेवा प्रदाता पवन हंस चंडीगढ़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई…

Read More

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

कांगड़ा जिले का मुख्यालय धर्मशाला है। जिसकी समुद्र तल से ऊंचाई 1597 मीटर है। इसका क्षेत्रफल 5739 वर्ग किलोमीटर है। जनसंख्या के हिसाब से कांगड़ा हिमाचल प्रदेश का सबसे बड़ा जिला है| कांगड़ा जिले के कुछ आंकड़े: जनसंख्या 15,07,223 लिंग अनुपात 1013 जनसंख्या घनत्व 263 साक्षरता दर 86% कांगड़ा का इतिहास कांगड़ा को पुराने समय मे त्रिगर्त नाम से जाना जाता था। यह हिमाचल की सबसे पुरानी रियासत थी जिसकी राजधानी नगरकोट थी। त्रिगर्त रियासत की स्थापना सुशर्माचंद्र ने की थी। सुशर्माचंद्र ने ही नगरकोट किले का निर्माण करवाया था।…

Read More

Lost Tribe Hostel: a home for bagpackers away from home

Lost Tribe Hostel

Himachal Pradesh has a lot to offer in terms of tourism and people from all corners of the world visit it all year around. Earlier people who were very well equipped in terms of money and connections used to be the ones to travel more often. People from middle class and economically backward backgrounds saw travelling as a luxury. They had to save in advance for months in order to go on a holiday and also spend wisely while they are on the holiday. But as the time has changed,tourism…

Read More

जानिए हिमाचल प्रदेश की पर्वत श्रृंखलाओं तथा प्रमुख दर्रो के बारे में

हिमाचल प्रदेश की समुद्र तल से ऊंचाई 350 मीटर से 7,000 मीटर के बीच के लगभग है। हिमाचल प्रदेश को तीन प्रकार की पर्वत श्रृंखलाओं में बांटा गया है। 1. निम्न पर्वत श्रेणी – इस पर्वत श्रेणी को शिवालिक पर्वत के नाम से भी जाना जाता है। शिवालिक शब्द का अर्थ है शिव की जटाएं । इस क्षेत्र की समुद्र तल से ऊंचाई 350 मीटर से 1500 मीटर तक है। प्राचीन काल में शिवालिक पर्वत को मानक पर्वत के नाम से जाना जाता था। इस क्षेत्र में औसत वार्षिक वर्षा 1500…

Read More

18 interesting facts about the beautiful country of New Zealand

New Zealand is indeed one of the beat countries to live in and though being a small nation, it is a developed one. They have a distinct biodiversity in terms of plants, animals and fungals. The history of New Zealand dates back to 1250th CE. Sometime between 1250 and 1300 CE, Polynesian settled in the islands that later were named New Zealand and developed a distinctive Maori culture. In 1642, Dutch explorer Abel Tasman became the first European to sight New Zealand. Maoris form the largest minority group followed by Asians and Pacific…

Read More

आइए जानते हैं चंबा के जोत नामक स्थान के बारे में जो किसी जन्नत से कम नहीं

जोत पहाड़ो का राजा:- अगर शिमला पहाड़ो की रानी है तो जोत पहाड़ो का राजा है। “जोत” पहाड़ी बोली का शब्द है हिंदी में इसे दर्रा और अंग्रेजी में पास कहा जाता है। हिमाचल में बहुत से दर्रे हैं परंतु जिला चम्बा में भट्टियात और चम्बा को मिलाने वाला जोत बहुत प्रसिद्ध है। हिमाचल को कुदरत ने बेपनाह खूबसूरती बख्शी है। और पहाड़ो की ऊंची चोटियों पर देवदार के वृक्षों में पड़े वर्फ़ के फाहों में जब आप मस्ती में झूम जाओ तो समझो आप हिमाचल की खूबसूरत धरती का आनंद…

Read More