जानिए हिमाचल प्रदेश की पर्वत श्रृंखलाओं तथा प्रमुख दर्रो के बारे में

हिमाचल प्रदेश की समुद्र तल से ऊंचाई 350 मीटर से 7,000 मीटर के बीच के लगभग है। हिमाचल प्रदेश को तीन प्रकार की पर्वत श्रृंखलाओं में बांटा गया है। 1. निम्न पर्वत श्रेणी – इस पर्वत श्रेणी को शिवालिक पर्वत के नाम से भी जाना जाता है। शिवालिक शब्द का अर्थ है शिव की जटाएं । इस क्षेत्र की समुद्र तल से ऊंचाई 350 मीटर से 1500 मीटर तक है। प्राचीन काल में शिवालिक पर्वत को मानक पर्वत के नाम से जाना जाता था। इस क्षेत्र में औसत वार्षिक वर्षा 1500…

Read More

पीएम मोदी ने दी हिमाचल के उद्योगों के लिए 2027 तक बड़ी छूट

केंद्र की मोदी सरकार ने हिमाचल के उद्योगों के we लिए टैक्स रियायत 10 साल के लिए बढ़ाई है। इसका फायदा प्रदेश के करीब हजार उद्योगों को मिलेगा। जिन उद्योगों को केंद्रीय आबकारी शुल्क में 31 मार्च 2017 तक छूट दी जा रही थी, जीएसटी लागू होने के बाद उन्हें सीजीएसटी और आईजीएसटी में छूट दी गई है। दैनिक समाचार पत्र अमर उजाला की खबर के अनुसार यह छूट जुलाई 2017 से मार्च 2027 तक मिलेगी। जीएसटी लागू होने के बाद जिन उद्योगों से सीजीएसटी और आईजीएसटी लिया गया है,…

Read More

आइए जानते हैं चंबा के जोत नामक स्थान के बारे में जो किसी जन्नत से कम नहीं

जोत पहाड़ो का राजा:- अगर शिमला पहाड़ो की रानी है तो जोत पहाड़ो का राजा है। “जोत” पहाड़ी बोली का शब्द है हिंदी में इसे दर्रा और अंग्रेजी में पास कहा जाता है। हिमाचल में बहुत से दर्रे हैं परंतु जिला चम्बा में भट्टियात और चम्बा को मिलाने वाला जोत बहुत प्रसिद्ध है। हिमाचल को कुदरत ने बेपनाह खूबसूरती बख्शी है। और पहाड़ो की ऊंची चोटियों पर देवदार के वृक्षों में पड़े वर्फ़ के फाहों में जब आप मस्ती में झूम जाओ तो समझो आप हिमाचल की खूबसूरत धरती का आनंद…

Read More

Did you know there is a Glaciological Research Centre in Spiti? Here are 7 facts about it

Image Source 1) Himansh is the Glaciological Research Centre which is situated at an altitude of nearly 13,500 feet or 4000 mtr in the Spiti Valley of Himachal Pradesh and it is consider to be the highest point from where an Indian Glacier Research Facility is functioning. 2) The Glacial Research Lab is established by the National Centre for Antarctic and Ocean Research (NCAOR). 3) The research centre is equipped with Automatic Weather Stations, Ground Penetrating Radars, Geodetic GPS systems and other technological facilities to study glaciers and their discharge.…

Read More

Join and Support the Cleanliness drive from Koksar to Keylong

Swach Bharat” , “Swach Himalaya” , “Harit Himalaya” !! The above line suggests “Clean & Green Himalayas” which is a good step towards “Swach Bharat” which is a dream of every Indian out there and is waiting for the day when our India will be dirt free and also a least polluted country in the world. The people of Lahaul- Spiti has the same feeling towards environment and that’s why they are starting a cleanliness drive from a place called ‘Koksar’ to District Headquarter ‘Keylong’ . We are happy and…

Read More

उत्तराखंड के इस गांव में हुआ था शिवजी और पार्वती का विवाह

त्रियुगीनारायण मंदिर के बारे में वेदों में उल्लेख भी मिलता है कि यह मंदिर त्रेतायुग से स्थापित है। माता पार्वती और भगवान शिवजी के विवाह के बारे में कई पौराणिक कथाएं हैं। ऐसी ही एक कथा उत्तराखण्ड के रूद्रप्रयाग जिले के त्रियुगीनारायण नाम के मंदिर से जुड़ी हुई है। Image Source इस मंदिर में एक ज्योति हमेशा जलती रहती है। स्थानीय लोगों की मान्यता के मुताबिक इस ज्योति के सामने ही भगवान शिवजी और माता पार्वती का विवाह हुआ था। मंदिर में जल रही इस ज्योति के बारे में कहा…

Read More

Things to learn and share on this World Environment Day

Happy “World Environment Day” to all the living beings on the planet which we call as Mother Earth. This day is celebrated as World Environment Day across the globe. What is an Environment? Environment – The world around us,the life of all the living organisms around us comprises environment. All living beings are gifted with the beautiful environment by the almighty. We ‘Humans’ are responsible for its preservation and betterment to sustain life. But unfortunately we are affecting it adversely rather than preserving it. Some issues to be taken care…

Read More

5 Places you must not miss on a trip to Kullu-Manali

This is Himalayas which literally the abode of snow. It is the last frontier king of all mountains. Here species have thrived and gone extinct, civilizations came and then destroyed, but mountains they have seen it all. The idea of travel should not just involve moving from one place to another. So let’s talk about “5 Places you must not miss on a trip to Kullu-Manali“. 1.Bijli mahadev temple Bijli mahadev temple is one of the oldest temple of Kullu valley dedicated to lord Shiva. Situated at a height of more than…

Read More

6 must visit places while you are in Palampur

Palampur is a green hill station and a municipal council in the Kangra Valley in the Indian state of Himachal Pradesh, surrounded by tea gardens and pine forests before they merge with the Dhauladhar ranges. The town has derived its name from the local word palum, meaning lots of water. There are numerous streams flowing from the mountains to the plains from Palampur. So, if you ever decide to visit Palampur then don’t worry, we have got your back ;). Today we will talk about “6 must visit places while you…

Read More

Snowtown Homestay: A must visit homestay in the lap of Himalayas

A homestay is a popular form of hospitality and lodging whereby visitors stay in a house or apartment of a local of the city or town to which they are traveling. Home stays are the type of accommodation that define the phrase “Home away from Home“. Homestays are examples of collaborative consumption and sharing. There are many advantages of staying in a homestay like: 1.Savings on lodging costs. 2. Personal connections with people from a different culture and/or social class. 3. Local perspective and information about the town that is…

Read More