नड्डा और धूमल हुए मुख्यमंत्री पद की रेस से बाहर अब सबकी निगाहें जय राम ठाकुर पर

हिमाचल में विधानसभा चुनाव में बीजेपी को बहुमत  प्राप्त हुआ है, साथ ही बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के चेहरे प्रेम कुमार धूमल अपनी सीट से हार चुके है और इसी के चलते ही बीजेपी में हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के नाम को लेकर अभी भी संशय गहरा रहा है। हिमाचल में पार्टी की जीत के चार दिन बाद भी अभी तक मुख्यमंत्री के नाम पर सहमति नही बन पाई है।

सबकी निगाहें जय राम ठाकुर पर
Source: IndiaTVnews

हिमाचल पार्टी प्रभारी मंगल पांडेय ने आज शिमला में भाजपा विधायक दल के साथ बैठक करेंगे। बीजेपी पार्टी हाई कमान की ओर से पार्टी पर्यवेक्षक निर्मला सीतारमण और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के भी शिमला पहुंचने की संभावना है लेकिन उनके आने की कोई भी सूचना पार्टी कार्यालय शिमला को नहीं मिली है।



सबकी निगाहें जय राम ठाकुर पर

वहीं प्रेम कुमार धूमल ने जय राम ठाकुर के नाम पर सहमति जताई। पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने जय राम ठाकुर के समीरपुर स्थित आवास में आधा घंटा उनसे बातचीत की। कयास लगाए जा रहे है धूमल खेमे ने जय राम ठाकुर के नाम पर अपनी सहमति जता दी है।

सबकी निगाहें जय राम ठाकुर पर
Jai Ram Thakur

धूमल के ज्यादातर करीबी चुनाव हार गए हैं जो भी जीतकर आए कई विधायक है वह अभी भी उनके साथ हैं। कुटलैह से जीते विधायक वीरेंद्र कंवर और पांवटा के विधायक सुखराम ने भी धूमल के लिए अपनी सीट खाली करने की घोषणा की है। वहीं दूसरी ओर प्रेम कुमार धूमल के विरोधी दो खेमे, जिनमें से एक खेमा  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा का है और दूसरा खेमा पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार का हैं।



प्रदेश में कोई राजपूत बन सकता है सीएम!

सबकी निगाहें जय राम ठाकुर पर

जातीय समीकरण के हिसाब से देखा जाए तो अभी तक हिमाचल प्रदेश के ज्यादातर मुख्यमंत्री राजपूत समुदाय से तालुक रखते हैं। हालांकि हिमाचल प्रदेश के आधे मतदाता जिन वर्गों दलित (26%), जनजाति (6%) और पिछड़े वर्ग (15%) के हैं, उनसे आजतक कोई भी मुख्यमंत्री नहीं बन पाया।



सबकी निगाहें जय राम ठाकुर पर
JP Nadda

एबीपी न्यूज के सूत्रों के मुताबिक हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री पद दावेदार कि रेस से प्रेम कुमार धूमल और जगत प्रकाश नड्डा बाहर हो गए हैं और इसी के चलते जय राम ठाकुर पर सबकी नजरें टिकी हैं।

सबकी निगाहें जय राम ठाकुर पर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साफ किया है कि चाहे गुजरात हो या हिमाचल प्रदेश, मुख्यमंत्री की कमान एक युवा के हाथों में होगी। यानी साफ है कि भाजपा आलाकमान एक युवा चेहरे को हिमाचल और गुजरात की सत्ता सौंपेगा।



Facebook Comments

Related posts

Leave a Comment