शिमला को स्मार्ट सिटी बनाने का प्रारूप तैयार। जानिए क्या सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी

शिमला को स्मार्ट सिटी

Image Source

पहाड़ों की रानी शिमला को स्मार्ट सिटी में जगह मिलने के बाद अब इसका प्रारूप तैयार करने को लेकर नगर निगम ने कसरत शुरू कर दी है। शिमला को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए किन मूलभुत सुविधाओं की जरूरत है इसको लेकर शिमला में कार्यशाला का आयोजन किया गया गया।

कार्यशाला का शुभारंभ हिमाचल प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव वीसी फरका ने किया। स्मार्ट सिटी प्लान को तैयार करने में तीस फीसदी तक आम जनता से आए सुझावों पर अमल होगा। 50 सालों में राजधानी और ऐतिहासिक शहर शिमला कैसा दिखे, यहां क्या बुनियादी सुविधाएं मिले, इस पर संबंधित विभागों और स्वयं सेवी संस्थाओ के साथ कार्यशाला में सुझाव लिए जा रहे हैं।

शिमला को स्मार्ट सिटी

Image Source

शिमला स्मार्ट सिटी का 2906 करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट है जो की शिमला में पार्किंग, पानी के उचित वितरण, पैदल रास्तों, सुरक्षा और ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था को सही बनाने के लिए खर्च किया जाएगा। शिमला को स्मार्ट सिटी में तब्दील करने के लिए न सिर्फ इन्फ्रास्ट्रक्चर पर बल दिया जा रहा है बल्कि शिमला की हरियाली भी बरकरार रहे इस पर भी काम किया जा रहा है।

शिमला को स्मार्ट सिटी

शहरी विकास विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव मनीषा नंदा ने कहा कि शिमला को स्मार्ट सिटी की सूची में शामिल किया गया है और स्मार्ट सिटी का स्वरूप कैसा हो इसको लेकर संबधित विभागों और स्वयं सेवी संस्थाओं से सुझाव भी लिए जा रहे हैं।

शिमला को स्मार्ट सिटी

Image Source

टॉय ट्रेन, ट्रॉम चलाने की योजना, टनल भी बनेंगी
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत नगर निगम ने शहर में टॉय ट्रेन या ट्रॉम चलाने की भी योजना बनाई है। चक्कर-बालूगंज से सीटीओ, संजौली से आईजीएमसी और छोटा शिमला से शिमला क्लब तक टॉय ट्रेन या ट्रॉम का संचालन प्रस्तावित है। इसके अतिरिक्त लिफ्ट से लक्कड़ बाजार और आईजीएमसी से पंप हाउस तक और ढली तक टनल का निर्माण प्रस्तावित है। ढली में बस स्टैंड का निर्माण, टूटीकंडी में बस पार्किंग की योजना शामिल है।

शिमला को स्मार्ट सिटी

Image Source

पब्लिक प्लेस में फ्री वाई-फाई, सीसीटीवी
स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत शहर में पब्लिक प्लेस पर फ्री वाई-फाई जोन विकसित करने की भी योजना बनाई गई है। शहर में सभी जगहों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे। कार्ट रोड, ओल्ड बस स्टैंड, छोटा शिमला, कसुम्पटी और संजौली रूट पर क्रॉस सेक्शन बनाने की योजना है। ट्रैफिक को व्यवस्थित करने के लिए एटीएमएस (एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम) लागू करने का भी प्रस्ताव रखा गया है।

News Source eenaduindia

Facebook Comments

Related posts

Leave a Comment