जानिए किस लिए हिमाचल प्रदेश के इन गांवों ने किया मतदान का बहिष्कार

लाहौल-स्पीति तथा मंडी जिले के कुछ गांवों ने मतदान का बहिष्कार किया। उदयपुर में सालपत गांव , लाहौल-स्पीति जिले के दारचा के योचे गांव और मंडी जिले में संधोल के लोग अपनी मांगे  पूरा नहीं होने से परेशान हैं।

Map of Lahaul Spiti district

लाहौल-स्पीति जिले में दो पंचायतों के निवासी और मंडी जिले के संधोल क्षेत्र के लोग चुनाव का बहिष्कार करेंगे क्योंकि उनका कहना है कि उनकी मांग अभी भी अधूरी है। कई वर्षों से उनके गांव के लिए जाने वाली सड़क का निर्माण अभी तक अधूरा है।

मतदान का बहिष्कार
Map of Mandi District




उदयपुर पंचायत प्रधान मणि देवी ने thetribune को बताया, “लोग नाराज हैं और वे अपने फैसले पर अडिग हैं। हालांकि, मैंने उन्हें वोट देने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करने कोशिश की है। ”

मतदान का बहिष्कार

योचे गांव के लोग अपने घरों के निर्माण के लिए सुरक्षित जगह पर भूमि देने मांग कर रहे थे।आपको बता दें कि यह गांव सर्दियों और पिछले वर्ष के दौरान हिमस्खलन से ग्रस्त था। इस क्षेत्र में हिमस्खलन के कारण कुछ ग्रामीणों के घरों की छत क्षतिग्रस्त हो गईं, जो ग्रामीणों के लिए चिंता का विषय हैं।

मतदान का बहिष्कार
Map of Himachal Pradesh

मंडी जिले में, संधोल गांव के लोगों ने चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला किया है क्योंकि उनकी मांगें पूरी नहीं हैं। मंडी के अतिरिक्त उप आयुक्त, अश्विनी कुमार ने इस क्षेत्र का दौरा किया और ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की लेकिन वे अपने फैसले पर अडिग थे। संधोल के निवासी संजय ने कहा कि अस्पताल का रास्ता खराब स्थिति में है। संधोल में तहसील कल्याण कार्यालय खोलने के लिए एक अधिसूचना जारी की गई थी, जिसे बाद में धरमपुर में स्थानांतरित कर दिया गया था। इसी तरह, सिविल अस्पताल को 100 बिस्तरों की क्षमता में बढ़ाया गया था, लेकिन अभी भी 10 बेड थे।



News Source Thetribuneindia

 

Facebook Comments

Related posts

Leave a Comment