fbpx

प्रेम कुमार धूमल ने राहुल गांधी को भेजा लीगल नोटिस, जानिए क्या है वजह…..

प्रेम कुमार धूमल ने राहुल गांधी को भेजा लीगल नोटिस, जानिए क्या है वजह…..

हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम व वर्तमान चुनाव में सीएम उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को लीगल नोटिस भेजा है। धूमल ने राहुल को भेजे गए नोटिस में 8 नवंबर तक माफी मांगने को कहा है।

धूमल ने राहुल गांधी को भेजा लीगल नोटिस

अगर राहुल ने धूमल से माफी नहीं मांगी तो उनके खिलाफ आपराधिक मानहानि का केस करने की  धूमल ने बात कही है। यह मामला एक चुनावी रैली में राहुल द्वारा धूमल के ऊपर लगाए गए आरोपों के कारणवश है। राहुल गांधी ने चंबा व कांगड़ा के नगरोटा की जनसभाओं में आरोप लगाया था कि प्रेम कुमार धूमल ने सरकारी जमीन को हड़पा है और इसी कारण उनके बेटे अनुराग ठाकुर को बीसीसीआई से हटाया गया।

धूमल ने राहुल गांधी को भेजा लीगल नोटिस

इस तरह के आरोपों से हिमाचल में सियासत गरमा गई है। प्रदेश भर में नेता एक-दूसरे पर भ्रष्टाचार के तीखे आरोप लगा चुके हैं। इनमें से जो आरोप सही नहीं है वह मानहानि के केस के लिए योग्य हैं।



धूमल ने राहुल गांधी को भेजा लीगल नोटिस
Source: Indian Express

राहुल गांधी ने छह नवंबर को चंबा और नगरोटा की रैलियों में आरोप लगाया था कि प्रेम कुमार धूमल ने सरकारी जमीन को हड़पा और इसी वजह से उनके बेटे अनुराग ठाकुर को बीसीसीआई से हटाया गया। इस पर प्रेम कुमार धूमल ने अपने वकील के माध्यम से राहुल गांधी के दिल्ली स्थित आवास के पते पर लीगल नोटिस भेजा है।

धूमल ने राहुल गांधी को भेजा लीगल नोटिस

धूमल द्वारा भेजे गए नोटिस में कहा गया है कि यदि राहुल गांधी 9 नवंबर को मतदान के दिन तक अपने बयान पर माफी नहीं मांगेंगे तो उन पर आपराधिक मानहानि का केस दर्ज किया जाएगा। धूमल ने आरोप लगाया है कि चुनाव में मतदाताओं को भ्रमित करने और उनकी छवि को खराब करने की सोच से ये झूठे आरोप मढ़े गए हैं। धूमल का कहना है कि मात्र चुनावी लाभ के लिए उनकी प्रतिष्ठा को धूमिल करने की लिए किया है।



अब देखना यह होगा कि क्या राहुल गांधी 8 नवंबर तक माफी मांगेंगे या नहीं।

आप सभी से हमारी विनती है कि इस चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करें तथा हिमाचल प्रदेश तथा प्रदेशवासियों के हित में ही मत डाले।

Source: Eenadu India

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.