जानिए प्राचीन हिमाचल की 7 महत्वपूर्ण रियासतों के बारे में

हिमाचल प्रदेश (शाब्दिक रूप से “हिमपात भूमि) यह उत्तरी भारत में स्थित भारत का एक राज्य है। यह उत्तर में जम्मू और कश्मीर, पश्चिम में पंजाब और चंडीगढ़, दक्षिण-पश्चिम में हरियाणा, दक्षिण-पूर्व में उत्तराखंड और पूर्व में तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र स्थित है।
पुराने समय में हिमाचल प्रदेश पांच महत्वपूर्ण रियासते थी जिसमें जिसमें कहलूर, हूण्डर, महासू, त्रिगर्त, कलिंद, कुलुतादेस , सुकेत  मुख्य रियासते थी।

1) त्रिगर्त एक प्राचीन हिमाचल की सबसे बड़ी रियासत थी जिसे आज के समय में कांगड़ा कहा जाता है। इस रियासत में मुख्यतः कांगड़ा ऊना और हमीरपुर का भाग आता था।

प्राचीन हिमाचल की 5 महत्वपूर्ण रियासतों
Image Source

2) कलिंद प्रदेश प्राचीन हिमाचल की वह रियासत थी जो महासू शिमला से लेकर अंबाला हरियाणा और उत्तराखंड के गढवाल तक फैली थी। कलिंद प्रदेश वर्तमान समय में सिरमौर के आसपास कहां जा सकता है।

 



3) हूण्डर रियासत प्राचीन हिमाचल की रियासत थी जो हरियाणा और पंजाब के सीमावर्ती इलाकों को छुूती थी
हूण्डर रियासत वर्तमान समय में सोलन के नालागढ़ के आसपास थी।

प्राचीन हिमाचल की 5 महत्वपूर्ण रियासतों
Image Source

4) चम्बा रियासत वर्तमान भारतीय गणराज्य में सबसे पुराने रियासतों में से एक था, जिसे 6वीं शताब्दी के अंत में स्थापित किया गया। चम्बा रियासत के शासक मुशाण राजपूत वंश के थे। राजा साहिल वर्मन ने अपनी राजधानी को भर्मौर से नीचे की रवी घाटी में एक अधिक केन्द्रित पठार तक स्थानांतरित कर दिया और अपनी बेटी चंपावती के नाम पर चम्पा रख दिया तथा बाद में चम्बा।


Image Source

5) कहलूर रियासत प्राचीन हिमाचल कि वह रियासती जिसे अब हम बिलासपुर के नाम से जानते हैं यह रियासत पंजाब  में आती थी जिसका विलय 1954 हिमाचल में हुआ।

प्राचीन हिमाचल की 5 महत्वपूर्ण रियासतों
Image Source

6) वैदिक साहित्य में “कुलुतादेस” को “गंधर्व की भूमि” के नाम से जाना जाता है, जिसका उल्लेख रामायण, महाभारत और विष्णु पुराण में भी किया गया है। कुल्लू राजवंश ‘विहंगमनिपाल’ द्वारा स्थापित किया गया था जो हरिद्वार (मायापुरी) से आया था।

7. सुकेत राज्य की स्थापना लगभग 765 में बिरा सेन (वीर सेन) ने की थी, जो कि सेना राजवंश के बंगाल के राजा का पुत्र था। वर्तमान मंडी जिला मंडी और सुकेत  रियासतों के विलय से बनाई गई है।


Image Source

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे आगे शेयर भी करें।

­

Facebook Comments

Related posts

Leave a Comment