कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

कांगड़ा जिले का मुख्यालय धर्मशाला है। जिसकी समुद्र तल से ऊंचाई 1597 मीटर है। इसका क्षेत्रफल 5739 वर्ग किलोमीटर है। जनसंख्या के हिसाब से कांगड़ा हिमाचल प्रदेश का सबसे बड़ा जिला है| कांगड़ा जिले के कुछ आंकड़े:

जनसंख्या 15,07,223

लिंग अनुपात 1013

जनसंख्या घनत्व 263

साक्षरता दर 86%

कांगड़ा का इतिहास

कांगड़ा को पुराने समय मे त्रिगर्त नाम से जाना जाता था। यह हिमाचल की सबसे पुरानी रियासत थी जिसकी राजधानी नगरकोट थी। त्रिगर्त रियासत की स्थापना सुशर्माचंद्र ने की थी। सुशर्माचंद्र ने ही नगरकोट किले का निर्माण करवाया था।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

त्रिगर्त रियासत पर काफी आक्रमण भी हुए जो इस प्रकार है:

1009ई. में महमूद गजनबी ने आक्रमण किया। 1337ई. में मोहम्मद बिन तुगलक ने आक्रमण किया।

1365ई. में फिरोजशाह तुगलक ने आक्रमण किया।1540ई. मे शेरशाह सूरी ने आक्रमण किया और 1620ई. मे जहांगीर ने कांगड़ा के किले पर आक्रमण किया।

1809 में संसारचंद और महाराजा रणजीत सिंह के बीच ज्वालामुखी संधि हुई।

कांगड़ा का हिमाचल प्रदेश में विलय

1864ई. से 1 नवंबर 1966 तक कांगड़ा पंजाब का हिस्सा था। 1 नवंबर 1966को कांगड़ा हिमाचल प्रदेश में मिलाया गया। 1 सितंबर 1972 को कांगड़ा जिला अपने पूर्ण स्वरूप में आया। कुछ समय बाद कांगड़ा जिले को 3 भागों मे बांटकर ऊना,हमीरपुर जिलों का निर्माण किया गया।


कांगड़ा जिले में स्थित कुछ महत्वपूर्ण स्थान

कांगड़ा जिले के धर्मशाला मे केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित है।

कांगड़ा के पपरोला में आयुर्वेदिक कॉलेज है इसका निर्माण 1978 में हुआ था।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source

टांडा मेडिकल कॉलेज यह मेडिकल कॉलेज कांगड़ा जिले में स्थित है। यह मेडिकल कॉलेज हिमाचल में IGMC शिमला के बाद दूसरा सबसे बड़ा मेडिकल कॉलेज है।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source

कांगड़ा के पालमपुर में कृषि विश्वविद्यालय है इसकी स्थापना 1978 में की गई थी।



कांगड़ा के धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड का मुख्यालय भी है।

कांगड़ा के कुछ मुख्य पर्यटन स्थल

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source

मैकलोडगंज यह स्थल धर्मशाला में पड़ता है। यह जगह बौद्ध धर्म के गुरु दलाई लामा का निवास स्थल है।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Souce

धर्मशाला को छोटा ल्हासा  के नाम से भी जाना जाता है।धर्मशाला मे सेंट जोंस चर्च प्रसिद्ध है।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source

हिमाचल में सबसे सर्वाधिक वर्षा धर्मशाला स्थान पर होती है जो प्रतिवर्ष 340सेमी. है।

तिब्बत की निर्वासित सरकार का मुख्यालय धर्मशाला मे स्थित है।

कांगड़ा के धर्मशाला में सबसे ऊंचाई पर स्थित क्रिकेट स्टेडियम है। जहां पर अब तक अंतरराष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट मैच भी खेलें जा चुके हैं।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर
Image Source

धर्मशाला का निर्माण 1946 में लार्ड मैकलोड  ने किया था।



कांगड़ा में डल झील स्थित है। जो की प्राकृतिक झील है।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source

पोंग झील कांगड़ा जिले में स्थित है यह कृतिम में झील है।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source

कांगड़ा के कुछ धार्मिक स्थान

कांगड़ा के मशहूर मसरूर रांक कट मंदिर को हिमाचल का एलोरा कहते हैं।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source

ज्वालामुखी मंदिर :-यह कांगड़ा जिले में स्थित है अकबर ने इस मंदिर पर सोने का छत्र चढ़ाया था।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source

बृजेश्वरी मंदिर इस मंदिर को महमूद गजनवी ने लूटा था मंदिर कांगड़ा जिले मे है।

कांगड़ा जिले के इतिहास तथा वर्तमान पर एक नजर

Image Source



अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर भी करें तथा कामेंट करके अपने विचार व्यक्त करें।

Facebook Comments

Related posts

Leave a Comment